Hindus

श्रीकृष्ण ने अर्जुन के पुत्र अभिमन्यु को क्यों नहीं बचाया था ? – Mahabharat, Shri Krishna

सोशल मीडिया में शेयर करें

भगवान श्रीकृष्ण ने अभिमन्यु को महाभारत युद्ध में क्यों नहीं बचाया था ?
नमस्कार दोस्तो, Hindu Alert में आपका स्वागत है। आज हम इस लेख में जानेंगे कि आखिर ऐसी क्या वजह थी कि भगवान श्रीकृष्ण ने अभिमन्यु को महाभारत युद्ध में नहीं बचाया था ? महाभारत की कथा सभी ने सुनी और देखी होगी और यह भी जानते होंगे कि महाभारत युद्ध कैसे हुआ और किनके बीच हुआ लेकिन बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि महाभारत के युद्ध में भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन के पुत्र अभिमन्यु को क्यों नहीं बचाया था? Shri Ne Abhimanyu ko Kyo nahi bachaya tha

Why didn't Shri Krishna save Arjuna's son Abhimanyu


श्रीकृष्ण ने अर्जुन के पुत्र अभिमन्यु को क्यों नहीं बचाया था?
दरअसल आज हम आपको इसके बारे में बताने जा रहे हैं कि धर्म की रक्षा करने वाले भगवान श्री कृष्ण ने युद्ध में अभिमन्यु को क्यों नहीं बचाया था? अभिमन्यु बहुत ही कम उम्र के थे जब उन्होंने महाभारत के इस युद्ध में भाग लिया था और वह इस युद्ध में वीरगति को प्राप्त हुए थे।
तो आइए जानते हैं उस कारण को जिसके कारण भगवान श्री कृष्ण ने अभिमन्यु को नहीं बचाया था? ऐसा माना जाता है कि जब पृथ्वी लोक पर दुराचार बढ़ जाता है, तो भगवान पृथ्वी लोक से दुराचार खत्म करने के लिए किसी ना किसी रूप में जन्म लेते हैं और ऐसा भी कहा जाता है कि भगवान का साथ देने के लिए सभी देवताओं को भी स्वयं या फिर अपने पुत्र के रूप में पृथ्वी लोक में जन्म लेना पड़ता है।
Why didn’t Shri Krishna save Arjuna’s son Abhimanyu?
द्वापर युग में दुष्टों का विनाश करने के लिए भगवान विष्णु ने श्री कृष्ण के रूप में जन्म लिया था और फिर ब्रह्मा जी ने सभी देवताओं को भी श्रीकृष्ण की सहायता के लिए पृथ्वी लोक में जन्म के लिए आदेश दिया। ब्रह्मा जी के इस आदेश के मिलते ही सभी देवता राजी हो गए, लेकिन चंद्रमा ने अपने पुत्र वर्षा को धरती लोक में मानव रूप में अवतार लेने से इनकार कर दिया और ब्रह्मा जी से कह दिया कि उनका पुत्र धरती लोक में जन्म नही लेगा।
लेकिन सभी देवताओं के दबाव और समझाने के बाद उन्हें अपने पुत्र वर्षा को धरती लोक में भगवान की मदद के लिए भेजना ही पड़ा। देवताओं ने चंद्रमा को समझाया की यह उनका कर्तव्य है।
देवताओं के दबाव के कारण चंद्रमा अपने पुत्र वर्षा को धरती पर भेजने के लिए तैयार तो हो गए लेकिन उन्होंने सभी देवताओं के सामने एक शर्त रख दी उनका पुत्र भगवान श्री कृष्ण के मित्र अर्जुन के पुत्र के रूप में जन्म लेगा। और ज़्यादा समय तक धरती लोक में नही रहेगा। इसके साथ ही चंद्रमा ने कहा की उनका पुत्र भगवान कृष्णा और अर्जुन की अनुपस्तिथि में महाभारत के युद्ध में भाग लेगा और वीरगति को प्राप्त करेगा। ताकि उसकी कीर्ति तीनों लोकों में हो जाए।
चंद्रमा की इसी शर्त की वजह से भगवान श्री कृष्णा ने अभिमन्यु को नही बचाया था। अभिमन्यु महाभारत के युद्ध में अकेले ही चक्रव्यूह तोड़ने के लिए निकल पड़ा और आख़िर कर अंतिम व्यूह में वीरगति को प्राप्त हुआ।
नोट – यह जानकारी हिंदू महाकाव्यों, समाचार पत्रों, इंटरनेट स्त्रोत से ली गई है।
दोस्तों अगर आपको “भगवान श्रीकृष्ण ने अभिमन्यु को महाभारत युद्ध में क्यों नहीं बचाया था” लेख पसंद आया हो, तो इसे सोशल मीडिया जैसे की Facebook, WhatsApp में अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें। साथ ही कमेंट करके हमें अपने विचार जरुर बताएँ।
हिंदू धर्म से जुड़ी जानकारी और देश-दुनिया में हिंदू धर्म के ख़िलाफ किए जाने वाले घृणा अपराधों के बारे में जानने के लिए HinduAlert के फेसबुक पेज को फ़ॉलो करें और हमारे फ्री न्यूजलेटर को सब्स्क्राइब कर लें, ताकि नई पोस्ट आपके ईमेल पर मिल जाए।
महान सनातन हिंदू धर्म को फिर से दुनिया सा सबसे बड़ा धर्म बनाने और इसकी कीर्ति सभी देशों में फैलाने के लिए Hindu Alert के साथ जुड़े रहें।
Topics : #Shri Ne Abhimanyu ko Kyo nahi bachaya tha, #Abhimanyu ko Sri Krishna ne Kyo nahi bachaya, #Abhimanyu ki Mrityu kyu Huyi, #Abhimanyu #Mahabharat #Chakravyooh #Shri Krishna #Hindu #Hindu Alert #HinduAlert.in, #Why didn’t Shri Krishna save Arjuna’s son Abhimanyu


सोशल मीडिया में शेयर करें
इसे भी पढ़ें :  चंद्रोदय मंदिर वृंदावन - दुनिया का सबसे ऊंचा हिंदू मंदिर, Vrindavan Chandrodaya Mandir
You cannot copy content of this page
error: Content is protected !!