Facts in Hindi

क्या आप पेंसिल के बारे में रोचक तथ्य जानते हैं ? Interesting Facts About Pencil

सोशल मीडिया में शेयर करें

Interesting Facts About Pencil – जैसा कि हम सभी जानते हैं की पेंसिल लेखन और ड्राइंग के लिए उपयोग किया जाने वाला एक सरल उपकरण है। यह एक सामान्य वस्तु है जिसका हम हर रोज उपयोग करते हैं और इसके बिना कार्यालय  अधूरा होता है। यहाँ पेंसिल के बारे में पाँच रोचक तथ्य दिए गए हैं

Interesting Facts About Pencil, Interesting Facts About Pencil in Hindi
Interesting Facts About Pencil, Interesting Facts About Pencil in Hindi

Interesting Facts About Pencil

जैसा कि आप पहले से ही जानते हैं की पेंसिल का लीड वास्तव में ग्रेफाइट होता है। 1500 के दशक के मध्य में ग्रेफाइट इंग्लैंड के Cumbria के पास एक बड़ी और बहुत शुद्ध मात्रा में खोजा गया था। उस समय इसको भेड़ों को चिन्हित करने के लिए बहुत उपयोगी माना गया था। पहले पेंसिल का उपयोग भेड़ को चिह्नित करने के लिए किया जाता था।

Interesting Facts About Pencil in Hindi

इसके अलावा, ग्रेफाइट ब्लॉकों को आसानी से स्टिक्स के रूप में काटा जा सकता है। इन छड़ियों को स्थिरता के लिए तब चर्मपत्र या तार में लपेटा जाता था। इसलिए पहले पेंसिल लकड़ी में लिपटे हुए नहीं थे, जैसा कि हम उन्हें अभी जानते हैं।

कई साल बाद पेंसिल को लकड़ी में लपेटने के बारे में सबसे पहले इटालियंस ने सोचा था। लेकिन वास्तविक लकड़ी के पेंसिल का उत्पादन जर्मनी में सत्रहवीं शताब्दी के मध्य में किया गया था। उसमें ग्रेफाइट लकड़ी के दो टुकड़ों के बीच लगाया गया था।

औसत पेंसिल (लगभग 18 सेंटीमीटर लंबी) 35 मील लंबी एक रेखा खींच सकती है या लगभग 45000 शब्द लिख सकती है।

संयुक्त राज्य अमेरिका में हर साल 2 बिलियन से अधिक पेंसिल का उपयोग किया जाता है। वैश्विक संख्या 14 बिलियन से अधिक हो सकती है। इतनी पेंसिल में आसानी से लगभग 60 बार पृथ्वी को सर्कल करने के लिए पर्याप्त है। इसके अलावा, न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज के फर्श पर सालाना एक मिलियन से अधिक पेंसिल का उपयोग किया जाता है।

इसे भी पढ़ें :  हिन्दू धर्म के बारे में चौंकाने वाले तथ्य - Interesting Facts About Hinduism

एक औसत आकार का पेड़ से लगभग 1,70,000 पेंसिल बनाई जा सकती हैं। इसलिए यह माना जाता है की अगर हर साल 14 बिलियन पेंसिल का उत्पादन होता है, तो हर साल दुनिया भर में पेंसिल के लिए 82000 पेड़ काटे जाते हैं।

क्या आप कभी सोच सकते हैं कि कुछ साधारण सी चीजों का पर्यावरण पर इतना बड़ा प्रभाव पड़ सकता है?

पेंसिल अक्सर साहित्यिक दुनिया में महान नामों से जुड़े होती है। हेनरी डेविड थोरो ने वाल्डेन को लिखने के लिए पेंसिल का इस्तेमाल किया था। जॉन स्टीनबेक, एक अमेरिकी लेखक ने 300 से अधिक पेंसिलों का उपयोग अपने उपन्यास ईडन ऑफ ईस्ट को लिखने के लिए किया था। वह एक जुनूनी पेंसिल उपयोगकर्ता था।

अधिकांश पेंसिल, जैसा कि हम आज उन्हें जानते हैं, शीर्ष पर एक इरेजर के साथ आता है। लेकिन लगभग 160 साल पहले तक पेंसिल के शीर्ष से जुड़ी इरेजर नहीं दी जाती थीं। इसके कारण के बारे में एक लोकप्रिय सिद्धांत यह है कि शिक्षकों ने महसूस किया कि इरेजर छात्रों को गलतियाँ करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। आखिरकार, अगर आपने कोई गलती की है, तो आप इसे आसानी से खत्म कर सकते हैं।

इसके अलावा, अधिकांश यूरोपीय पेंसिलों में शीर्ष से जुडा इरेजर नही दिया जाता है, जबकि अमेरिकी लोग करते हैं। शायद यह केवल वरीयता का मामला है, लेकिन क्या यूरोपीय अमेरिकियों की तुलना में अधिक भरोसेमंद स्क्राइबब्लर हैं।

पेंसिल का उपयोग मुख्य रूप से लेखन और ड्राइंग के लिए किया जाता है। लेकिन, अगर आपको किसी साधारण चीज का चतुर उपयोग नहीं मिल रहा है तो क्या मज़ा है?

एक पेंसिल इरेजर नरम होता है। यह पिंस जैसी चीजों को चिपकाने और संग्रहीत करने के लिए एकदम सही है। आप सिर्फ पिंस को इरेजर में चिपका देते हैं और वे वहीं रहेंगे। या आप चॉपस्टिक के रूप में पेंसिल के एक जोड़े का उपयोग कर सकते हैं। पेंसिल पतली होती है और इसमें अच्छा नियंत्रण मिलता है। गिरी हुई चीजें लेने के लिए या अपने नूडल्स खाने के लिए चिमटी के रूप में दो पेंसिल का उपयोग करें। हालाँकि हेल्थ के लिहाज से यह करना सही नही होगा।

इसे भी पढ़ें :  हिंदू धर्म को वैज्ञानिक धर्म क्यों माना जाता है, जानिए इसके पीछे के 20 हिंदू मान्यताओं को - Why Hinduism is Scientific Religion

छोटा पौधा आसमान छूने के लिए महत्वाकांक्षी होता है। फूल के बर्तन में एक पेंसिल चिपकाकर और तने को उसके टुकड़े से बांधकर इसे नाजुक तने का समर्थन क्यों नहीं किया जाता है ? पेंसिल इस काम के लिए आदर्श हैं।


सोशल मीडिया में शेयर करें
You cannot copy content of this page
error: Content is protected !!